radhikasreflection

Everyday musings ….Life as I see it…….my space, my reflections and thoughts !!

Category Archives: Bilingual Poem

Bilingual poem – बांवरा मन , The Wandering Mind

बांवरा  सा मन मेरा, यह तो है अलबेला चल पड़ता यही, दिल में तराने लिए न टिकट कटवाता, न ज़रुरत है इसको पासपोर्ट का, न लम्बी कतारों में रुकना, न … Continue reading

March 24, 2018 · 42 Comments

प्रफुल्लित रात – Night’s Blush

धुंधलाती हुई परछाई के पीछे सूरज की किरणों ने दिन को किया अलविदा जो जाते जाते छोड़ गयी अपनी लाली मनो आँचल तले शर्माती दुल्हन घरोंदो की ओर उड़ते परिंदे … Continue reading

October 21, 2017 · 47 Comments

पहली बारिश – First Rains

पहली बारिश की छींटे जब पड़े, सूखी धरती पर मानो अमृत बरसे काली घटा छाए घनघोर, पवन जब मचाये शोर रिमझिम रिमझिम जब तू बरसे, कानो में बजती शहनाई, मिटटी … Continue reading

June 8, 2017 · 99 Comments

ज़िन्दगी का आईना – Mirror of Life

ज़िन्दगी के आईने में चेहरा देखा पहचान न सका अपने आप को नीरस आखें, झुर्रियों से भरा मुँख अपने अक्स से डर गया मै इस ज़िन्दगी के भाग दौड़ में, … Continue reading

May 5, 2017 · 60 Comments

होली – Holi

पेड़ो पर नयी पत्तिया अंकुरित होते है नन्ही कालिया खिलती है, कोयल की कूक गूंजती अम्बुआ में नयी बहार नयी उमंगो के साथ फागुन ले आया होली की सौगात रंगों … Continue reading

March 12, 2017 · 67 Comments

बचपन के दिन – Childhood days!

दूर गगन के छाव में, फुरसत के पलों के साथ , गुज़रा ज़िन्दगी के कुछ बेहतरीन साल, जिसे हम बचपन कहते थे * तेज़ धूप में खेला दिन भर, बेख़ौफ़ … Continue reading

January 29, 2017 · 55 Comments

अनकही बातें – Unspoken Words

ख़ामोशी कभी कभी बहुत कुछ कह जाती है वो अनकही अनसुनी दास्ताँ बयान  कर देती है एक ऐसी ग़ज़ल की रचना  करती है जो जाने सिर्फ  दिल और आखों की … Continue reading

December 17, 2016 · 56 Comments